Tuesday, August 3, 2021
Homeदुनियाभारत के आर्थिक झटकों से अब चीन में मचा हड़कंप, तेवर पड़े...

भारत के आर्थिक झटकों से अब चीन में मचा हड़कंप, तेवर पड़े ढीले

- Advertisement -

भारत और चीन के बीच गलवान में हुई हिंसक झड़प और भारत के खिलाफ धोखेबाजी के बाद भारत ने चीन को कई तरीके से आर्थिक चोट पहुंचाई है। अब चीन के तेवर ढ़ीले पड़ते दिखाई दे रहे हैं। भारत के एक्शन से चीन के इकोनॉमी पर जबरदस्त प्रभाव पड़ा है। ऐसे में अब चीन का कहना है कि भारत से उसकी इकोनॉमी को अलग करने से दोनों देशों को नुकसान होगा। चीन के राजदूत सुन वीडॉन्ग ने कहा कि उनका देश भारत के लिए स्ट्रैटजिक खतरा नहीं है। उन्होंने सहयोग का रवैया रखने की वकालत करते हुए कहा है कि किसी एक को नुकसान पहुंचाने की सोच नहीं रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था एक-दूसरे पर टिकी हुई हैं। इन्हें जबरदस्ती अलग करना ट्रेंड के खिलाफ है, इससे सिर्फ नुकसान ही नुक्सान होगा।

- Advertisement -

बता दें कि भारत ने चीन के खिलाफ बड़े बड़े एक्शन लिए हैं। अभी हाल में ही भारत ​सरकार ने चीन को एक और झटका दिया है। भारत सरकार ने रंगीन टेलीविजन के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है। टेलीविजन के घरेलु निर्माण को बढ़ावा देने के लिए ऐसा फैसला लिया गया। इस फैसले का मुख्य मकसद घरेलू निर्माण को बढ़ावा देना और दूसरे देशों खासकर चीन से रंगीन टीवी के आयात को खत्म करना है। इससे पहले भारत द्वारा टिकटॉक समेत चीन के 106 ऐप पर भी बैन लगाया गया है। रेलवे ने भी चीनी कंपनी के साथ 471 करोड़ रुपए का कॉन्ट्रैक्ट किया रद्द किया गया। भारत में 4G अपग्रेड सिस्टम के लिए चीनी कंपनियों के टेलिकॉम प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी बंद हो चुका है। हाइवे निर्माण कार्य में शामिल चीन की कंपनियों पर भी रोक लगायी गयी है। इन सबके अलावा भारत में चीनी सामान के बहिष्कार का आव्हान काफी तेज़ी से जारी है।

- Advertisement -

इसके साथ ही विदेशी निवेश समेत भारत में कारोबार करने के कई नियमों में बदलाव किए हैं जिससे भारत में चीनी कारोबार का प्रभावित होना तय है। इन सभी आर्थिक झटकों से चीन अब हताश परेशान होता दिख रहा है।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

मनोरंजन