Tuesday, November 30, 2021
15.1 C
Delhi
Homeदेश"मन की बात" में बोले पीएम मोदी - कोरोना वायरस का खतरा...

“मन की बात” में बोले पीएम मोदी – कोरोना वायरस का खतरा अभी टला नहीं है, लोगों से की सावधानी बरतने की अपील।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोपहर 11 बजे रेडियो के माध्यम से “मन की बात” कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। इस कार्यक्रम के अंतराल उन्होंने कई मुद्दों पर अपनी बात देश के लोगों के साथ साझा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस का खतरा अभी टला नहीं है और अभी भी उतना ही घातक है जितना शुरुआत के दिनों में था। उन्होंने लोगों से पूरी सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का खतरा अभी भी जारी है और कई स्थानों पर यह तेजी से फैल रहा है। उन्होंने ज्यादा सतर्क रहने की अपील की है। उन्होंने कहा की हमें यह ध्यान रखना है कि कोरोना वायरस अब भी उतना ही घातक है जितना शुरू में था। इसीलिए इस मामले में हमें हर तरह की सावधानी बरतनी चाहिए। साथ ही उन्होंने बिहार और असम में बाढ़ के साथ-साथ कोरोना महामारी से होनेवाली परेशनियों और सतर्कता का भी जिक्र किया।

- Advertisement -

पीएम मोदी ने अपने मन की बात के दौरान मिथिलांचल के प्रसिद्ध मिथिला पेंटिंग और असम में बांस से सामान बनाकर आत्मनिर्भर बन रहे लोगों की कहानी भी देश के समक्ष प्रस्तुत किया। पीएम मोदी ने आनेवाले स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लोगों से कोरोना महामारी से आजादी के लिए संकल्प लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना का खतरा अभी भी जारी है इसलिए मास्क का इस्तेमाल करते रहें। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले कई दिनों से पूरे देश ने एकजुट होकर जिस तरह कोरोना वायरस से मुकाबला किया है वह काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि भारत की इस महामारी से रिकवरी की दर अन्य कई देशों के मुकाबले काफी बेहतर है और इस वायरस से मृत्यु दर भी दुनिया के ज्यादातर देशों से काफी कम है। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से एक भी व्यक्ति को खोना दुखद है लेकिन भारत अपने लाखों देशवासियों का जीवन बचाने में भी सफल रहा है।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए लोगों से चेहरे पर मास्क लगाने या गमछे का उपयोग करने, दो गज की दूरी का पालन करने, लगातार हाथ धोने, साफ़-सफाई का पूरा ध्यान रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि इन्ही तरीको से कोरोना से बचा जा सकता है। मोदी ने यह भी कहा कि परेशानी के चलते कुछ लोग कभी कभी मास्क हटा देते हैं लेकिन ऐसे लोगों को उन सभी कोरोना योद्धाओं से सीखना चाहिए जो कई घंटे मास्क पहनकर लोगों का जीवन बचाने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि देशवासियों को जहां एक तरफ कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ना है तो वहीं दूसरी तरफ पूरी मेहनत से अपने कार्य में भी गति लानी है और उसको भी नई ऊंचाई पर ले जाना है। प्रधानमंत्री ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र-छात्राओं को भी उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

मनोरंजन