Tuesday, November 30, 2021
15.1 C
Delhi
Homeदेशभारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने युवाओं को दिया स्वदेशी...

भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने युवाओं को दिया स्वदेशी ऐप्प बनाने का चैलेंज।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन को एक और झटका देने और उस पर शिकंजा कसने के लिए भारतीय युवाओं से अपील की है कि भारतीय युवा ट्विटर, फेसबुक और टिक-टॉक जैसे सोशल ऐप्स बनाने का काम करें। उन्होंने कहा कि देश के युवा आगे आएँ और ट्विटर, फेसबुक और टिक-टॉक जैसे ऐप्प भारत में बनाये। उन्होंने ये भी कहा है की वो खुद भारतीय युवाओं द्वारा बनी हुई सभी सोशल ऐप्प को ज्वाइन करेंगे और इस्तेमाल करेंगे। भारत के प्रधानमंत्री का यह बयान देश के युवाओं के लिए काफी अहम् और प्रेरणा दायक है। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत ऐप इन्नोवेशन चैलेंज में ऐसी बातें कही हैं। सरहद पर चीन के साथ ख़राब हालात हैं तथा भारत सरकार ने चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया है जिसमे से कई ऐप्स भारत में काफी लोकप्रिय थे। चीन के 59 ऐप्स को बैन करने के बाद अब प्रधानमंत्री सम्पूर्ण भारत को हर मामले में आत्मनिर्भर बनाने की ओर नयी सोच के साथ चल पड़े हैं।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ट्वीट करके कहा कि वह आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज लॉन्च करने जा रहे हैं और आज मेड इन इंडिया ऐप्स बनाने के लिए टेक और स्‍टार्ट-अप कम्‍युनिटी के अंदर काफी उत्साह है इसलिए आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज शुरू किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं और स्टार्ट अप कंपनियों से स्वदेशी मोबाइल ऐप बनाने का नया आह्वान सुरु किया है और उन्होंने आईटी में काम करने वालों को कहा कि वे ‘कोड ऑफ एन आत्मनिर्भर भारत’ के इनोवेशन चैलेंज में हिस्सा लें। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि यह चैलेंज आपके लिए है और अगर आप ऐसे प्रोडक्ट पर काम कर रहे हैं या फिर आप ये मानते हैं कि ऐसे प्रोडक्ट्स को बनाने का आपके पास विजन और अनुभव है तो मैं टेक समुदाय के सभी दोस्तों से अनुरोध करता हूं कि वे इसमें शामिल हों तथा मेरे लिंक्ड इन पोस्ट पर अपने विचारों को रखें।

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि स्वदेशी ऐप्स को नया रूप देने, विकसित करने और बढ़ावा देने के लिए स्टार्ट-अप और टेक इकोसिस्टम के बीच भारी रुचि और उत्साह देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय बाजार में इसकी बहुत संभावना है और हम सभी अपने बाजार की विशाल क्षमता को भी जानते हैं। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि आज जब पूरा देश आत्‍मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है तो ऐसे में यह एक अच्‍छा अवसर है कि ऐसे प्रयत्‍नों को प्रोत्‍साहित किया जाए और युवा एवं स्टार्ट अप कंपनियां ऐसे ऐप्‍स बनाएं जो हमारे बाजार को संतुष्‍ट करने के साथ-साथ दुनिया के साथ भी प्रतिस्‍पर्द्धा कर सकें। ये चैलेंज दो ट्रैक पर काम करेगा, मौजूदा ऐप्‍स को प्रोत्‍साहन, ई-लर्निंग, वर्क फ्रॉम होम, गेमिंग, बिजनेस, एंटरटेनमेंट, ऑफिस यूटिलिटीज और सोशल नेटवर्किंग की श्रेणियों वाले ऐप्‍स को सरकार गाइड करने के साथ सपोर्ट भी करेगी, ट्रैक-1 मिशन मोड में काम करते हुए अच्‍छी क्‍वालिटी के ऐप्‍स की पहचान करेगा। इसके अलावा ट्रैक-2 के तहत नए ऐप्‍स और प्‍लेटफॉर्म बनाने के लिए आइडिएशन के स्‍तर से लेकर के बाजार तक पहुंचने के लिए सुविधाएं दी जाएंगी। उन्‍होंने अन्य किसी देश का नाम लिए बिना कहा कि विस्तारवाद का युग अब समाप्त हो चुका है और यह युग विकासवाद का है।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

मनोरंजन