16.1 C
Delhi
Wednesday, January 20, 2021
Home विज्ञान आग के छल्ले जैसा दिखेगा सूर्य ग्रहण, कई राशियों पर डालेगा प्रभाव

आग के छल्ले जैसा दिखेगा सूर्य ग्रहण, कई राशियों पर डालेगा प्रभाव

- Advertisement -

साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण रविवार 21 जून 2020 को लगभग सुबह 9:15 बजे से शुरू होगा और करीब दोपहर 3:04 बजे तक रहेगा। यह सूर्य ग्रहण करीब 6 घंटे का होगा लेकिन भारत में करीब साढ़े 3 घंटे तक इसका दृश्य रहेगा। ग्रहण का सूतक काल आज रात 9:15 से शुरू हो जाएगा। ग्रहण के 12 घंटे के पहले का समय और ग्रहण के 12 घंटे के बाद के समय को ज्योतिष के अनुसार सूतककाल कहा जाता है। ज्योतिष के हिसाब से आने वाला सूर्य ग्रहण कई राशियों पर अलग अलग प्रभाव डालने वाला है। अलग अलग ज्योतिषों द्वारा अपने अलग अलग अंदाज़ में राशियों पर पड़ने वाले प्रभाव को बताया गया है।

- Advertisement -

इस ग्रहण का असर केवल भारत में ही नहीं होगा बल्कि अमेरिका, चीन, इंग्लैंड के साथ कई अन्य देशों में भी दिखाई देगा। इस ग्रहण को लेकर चेन्नई के एक वैज्ञानिक के एल कृष्णा ने दावा किया है कि इस ग्रहण का संबंध 26 दिसंबर 2019 के ग्रहण से है, उनका कहना है कि आने वाले 21 दिसंबर 2020 का सूर्य ग्रहण कोरोनावायरस को हमेशा के लिए खत्म कर देगा। खगोल विद्या विज्ञान में रुचि रखने वाले लोगों को यह “रिंग ऑफ फायर” यानी कि “आग के छल्ले” के रूप में दिखाई देगा। हालांकि पिछले साल 26 दिसंबर 2019 की तरह इस बार आग का छल्ला उतने अच्छे से नहीं दिखाई देगा। शास्त्रों के अनुसार ग्रहण के स्पर्श के समय स्नान करना आवश्यक है एवं ग्रहण के दौरान सभी को भगवान के मंत्रों का जाप करना चाहिए।

- Advertisement -

solar eclips-newसूर्य ग्रहण के वक्त रखें इन बातों का ख्याल।
ग्रहण काल के वक्त खाना-पीना एवं किसी तरह का शुभ कार्य या पूजा पाठ नहीं करना चाहिए।
सूर्य ग्रहण के वक्त मंत्रों का जाप करना उचित माना गया है।
गर्भवती महिलाओं को सूतक लगने के बाद घर से नहीं निकलना चाहिए क्योंकि ग्रहण के वक्त सूर्य से जिस तरह की किरणें निकलती है वह गर्भस्थ शिशु के लिए हानिकारक होता है।
सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान आवश्यक है।
घर के मंदिर को सूतक लगने से पहले परदे या किसी चीज से ढक देना चाहिए।

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

मनोरंजन

खबरों के लिए हमें लाइक, फॉलो और सब्सक्राइब करें

2,903FansLike
3FollowersFollow
12SubscribersSubscribe