Friday, September 24, 2021
34.1 C
Delhi
Homeआस्थाआने वाला है भाई बहन के पवित्र रिश्ता रक्षाबंधन का तयोहार

आने वाला है भाई बहन के पवित्र रिश्ता रक्षाबंधन का तयोहार

- Advertisement -

रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के पवित्र प्रेम का प्रतीक है. बहनें भाई की लंबी उम्र की कामना करते हुए तिलक लगाती हैं, राखी बांधती हैं और मुंह मीठा कराती हैं और भाई बहनों को स्नेह जताने के लिए उपहार देते हैं और उनकी रक्षा का वचन देते हैं. प्राचीन काल से यह त्योहार मनाने की परंपरा चली आ रही है. हर साल यह त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है. इस साल 22 अगस्त, रविवार के दिन रक्षा बंधन मनाया जाएगा. हालांकि मुहूर्त 21 अगस्त 2021 की शाम को ही प्रारंभ हो जाएगा लेकिन उदया तिथि 22 अगस्त को है, इसलिए इसी दिन बहनें भाई को राखी बांधेंगी.

- Advertisement -

बहन को राखी की थाली सजाते समय रेशमी वस्त्र में केसर, सरसों, चंदन, चावल व दुर्वा रखकर भगवान की पूजा करनी चाहिए. राखी (रक्षा सूत्र) को भगवान शिव की प्रतिमा, तस्वीर या शिवलिंग पर अर्पित करें. फिर, महामृत्युंजय मंत्र का एक माला (108 बार) जप करें. इसके बाद देवो के देव महादेव को अर्पित किया हुआ रक्षा-सूत्र भाईयों की कलाई पर बांधें. महाकाल भगवान शिव की कृपा, महामृत्युंजय मंत्र और श्रावण सोमवार के प्रभाव से सब शुभ होगा.

- Advertisement -

शास्त्रों के अनुसार राखी बांधते वक्त ये मंत्र पढ़ना लाभकारी है
येन बद्धो बलि: राजा दानवेंद्रो महाबल:
तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल.
मंत्र का अर्थ है – जिस रक्षासूत्र से महान शक्तिशाली राजा बलि को बांधा गया था, उसी सूत्र से मैं तुम्हें बांधती हूं. हे रक्षे (राखी), तुम अडिग रहना. अपने रक्षा के संकल्प से कभी भी विचलित मत होना.

- Advertisement -

न्यूज़ अपडेट

मनोरंजन